• Mon. Sep 26th, 2022

    GF से मिलने के लिए पाइप पकड़ गर्ल्स हॉस्टल के कमरे में घुस रहा था डॉक्टर, चौथी मंजिल से गिरा

    Jun 14, 2020

    Indore: गर्लफ्रेंड से मिलने की चाहत में रात को साढ़े तीन बजे एक डॉक्टर गर्ल्स हॉस्टल में घुसने की कोशिश कर रहा था। यह कोशिश उसके लिए जानलेवा साबित हुई है। इंदौर के इंडेक्स कॉलेज के गर्ल्स हॉस्टल में रह रही प्रेमिका से मिलने के लिए डॉक्टर पाइप पकड़ कर जा रहा था। उसके कमरे तक पहुंचने से पहले ही पाइप टूट गया और डॉक्टर चौथी मंजिल से गिर गया। उसके रात को ही कैंपस में कोहराम मच गया।

    दरअसल, इंडेक्स मेडिकल कॉलेज में शुक्रवार और शनिवार की दरमियानी रात साढ़े तीन बजे एक डॉक्टर की मौत हो गई है। डॉक्टर आयुष राजीव मिश्रा इंडेक्स कॉलेज के ब्वॉयज हॉस्टल में रहता था। कैंपस में अहिल्या गर्ल्स हॉस्टल में उसकी गर्लफ्रेंड रहती थी। डॉ आयुष रात में अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने के लिए पाइप के सहारे हॉस्टल में घुस रहे थे। इस दौरान हादसा हो गया और जान चली गई।

    मना कर रही थी गर्लफ्रेंड

    जानकारी के अनुसार डॉ की गर्लफ्रेंड एक दिन पहले ही अपने गांव से हॉस्टल आई थी। उसके आने के बाद से ही आयुष मिलने की जिद कर रहा था। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार डॉक्टर आयुष उसे हर 15 मिनट पर कॉल कर रहा था। उसने शनिवार सुबह 8 बजे मिलने का वक्त दिया था। लेकिन डॉ आयुष राजीव मिश्रा नहीं माने और रात में ही उसके हॉस्टल में घुसने की कोशिश करने लगे।

    पाइप के सहारे हॉस्टल में घुसा

    बैतूल निवासी डॉ आयुष राजीव मिश्रा, इंडेक्स अस्पताल से एमबीबीएस की पढ़ाई के बाद इंटर्नशिप कर रहा था। गर्लफ्रेंड भी इसी कॉलेज में पढ़ाई कर रही है। लॉकडाउन की वजह से वह घर चली गई थी। शुक्रवार को दिन में ही वह घर से लौटी थी। लड़की और डॉक्टर आयुष का हॉस्टल पास में ही था। गर्लफ्रेंड से मिलने के आयुष लोहे की पाइप पकड़ गर्ल्स हॉस्टल की छत पर पहुंच गया। वहां से नीचे जाने के लिए छत का गेट बंद था। उसके बाद आयुष पलास्टिक की पतली पाइप पकड़ गर्लफ्रेंड के कमरे तक जाने की योजना बनाई। जैसे ही वह पाइप पर चढ़ा, वह टूट गया।

    उसके बाद पीठ के बल डॉ आयुष नीचे गिर गया। नीचे गिरते ही डॉ आयुष की मौत हो गई है। उसकी मौत और नीचे गिरने की खबर से गर्लफ्रेंड अनजान थी। परिसर में पानी फैलने के बाद महिला गार्ड देखने आई। महिला गार्ड को डॉक्टर आयुष वहां गिरे मिले, उसके बाद आयुष के साथियों को सूचना दी गई। डॉ आयुष को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया।

    शव बैतूल भेजा गया

    वहीं, शनिवार को पोस्टमार्टम के बाद डॉ आयुष के शव को उसके साथी बैतूल स्थित घर लेकर गए। गर्लफ्रेंड को घटना की जानकारी सुबह में मिली, उसके बाद वह बदहवास हो गई। लड़की के परिजनों को भी इसके बारे में जानकारी दे दी गई है।