• Tue. Nov 29th, 2022

    सोशल मीडिया से हुआ LOVE, शादी करने के लिए BF संग भागी GF, उम्र बनी बाधा तो दोनों फंदे से झूल गए

    Sep 5, 2020

    Palamu. जिला मुख्यालय मेदिनीनगर के बारालोटा लॉज में बीती रात एक प्रेमी जोड़े ने पहले जहर खाया, फिर फांसी लगाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया. इस घटना में युवती की मौत हो गयी, जबकि युवक बच गया. उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है. उसके परिजन उसका इलाज करा रहे हैं. युवती हजारीबाग की रहने वाली थी, जबकि युवक गढ़वा जिले का निवासी है. युवती के परिजनों ने शहर थाना में युवक पर हत्या का मामला दर्ज कराया है, पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

    छात्रा का शव फंदे पर लटका मिला

    जानकारी के अनुसार, शुक्रवार की रात बारालोटा में लॉज के कमरा से एक छात्रा का शव बरामद किया गया. इसकी पहचान हजारीबाग जिला के पेलावल थाना क्षेत्र के रोमी निवासी मो उमर खान की 24 वर्षीय पुत्री सलीना यासमीन के रूप में हुई. शहर थाना की पुलिस ने शव को कब्जे में लिया और उसका पोस्टमार्टम पीएमसीएच में कराया. शव उसके भाई जुनैद खान को सौंप दिया गया.

    सोशल मीडिया से हुआ था प्यार, शादी में उम्र बाधा बनने पर की आत्महत्या : एसडीपीओ

    सदर एसडीपीओ संदीप कुमार गुप्ता ने बताया कि हजारीबाग की युवती और गढ़वा के नाबालिग युवक के बीच सोशल मीडिया के माध्यम से प्यार हुआ था। गत 2 सितम्बर को लड़की रांची आयी थी। यहां से लड़का उसे मेदिनीनगर लाया. लड़की लड़के से शादी करना चाहती थी, जबकि युवक नाबालिग होने के कारण हमेशा माना कर रहा था। लड़का उम्र होने के बाद शादी करने को तैयार था. इसी बीच दोनों ने साथ मरने का निर्णय लिया. पहले चूहे मारने की दवा खायी. उससे उनकी मौत नहीं हुई तो उन्होंने दो फांसी का फंदा तैयार किया, लेकिन लड़के की लंबाई ज्यादा होने के कारण वह फांसी पर लटक नहीं पाया. लड़की की मौत हो गयी. लड़का किसी तरह यहां से भागा और सदर अस्पताल में भर्ती हुआ और अपने परिजनों को इसकी जानकारी दी. परिजनों से इसकी सूचना पुलिस को मिली.

    बारालोटा लॉज में हुई घटना

    बताया जाता है कि शुक्रवार की रात सूचना के आधार पर पुलिस बारालोटा स्थित लॉज पहुंची तो फांसी से लटका उक्त छात्रा का शव पाया गया. उस कमरे में जहर की पुड़िया भी गिरी पड़ी थी. मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा है. सलीना दो सितंबर को हजारीबाग से गायब हो गई थी. खोजबीन के बाद उसके परिजनों ने हजारीबाग सदर थाना में मामला भी दर्ज कराया था.

    क्या है आरोप?

    छात्रा के भाई जुनैद ने कहा है कि गढ़वा के कठौतिया निवासी बजरंग लाल यादव के पुत्र प्रिंस कुमार यादव ने अपने साथियों की मदद से बहन सलीना यासमीन को बहला-फुसलाकर मेदिनीनगर लाया. यहां उसके साथ शारीरिक संबंध बनाकर जान से मार दिया. साक्ष्य छुपाने के उद्देश्य से फांसी पर लटका देने का भी आरोप लगाया है. बताया कि घटनास्थल स्थित कमरा में जाने पर पाया कि जहर का पुड़िया गिरा पड़ा था. उस कमरा से काफी गुर्दंध भी आ रहा था. प्रिंस कुमार यादव अनिल तिवारी के लॉज में किराया पर कमरा लेकर रहता था. बहरहाल, शहर थाना की पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है.

    हजारीबाग विमेंस कॉलेज की छात्रा थी मृतका

    मृतका केबी विमेंस कॉलेज हजारीबाग की छात्रा थी. वह बीकॉम सेमेस्टर छह में अध्ययनरत थी. दो सितंबर की सुबह घर के लोगों को वह कॉलेज में प्रोजेक्ट पेपर जमा करने की बात कहकर निकली थी. शाम तक नहीं लौटी तो घर-परिवार के लोग परेशान होकर खोजबीन शुरू की. तीन सितंबर को सदर थाना हजारीबाग में मामला दर्ज कराया. खोजबीन जारी ही थी कि शुक्रवार की रात परिवार के लोगों को यासमीन की मौत होने संबंधित सूचना थाना से मिली. इसके बाद पुलिस के साथ परिवार के लोग भी मेदिनीनगर आ गए.

    प्रेम प्रसंग का मामला: थाना प्रभारी

    शहर थाना प्रभारी अरूण कुमार महथा ने बताया कि मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा हुआ है. बारालोटा स्थित लॉज में प्रेमी और प्रेमिका दोनों ने फांसी लगाकर आत्महत्या की. इस बीच प्रेमिका की मौत हो गई और प्रेमी बच गया था. बाद में प्रेमी ने जहर खाकर जान देने की कोशिश की. हालांकि परिजनों ने उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया. उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है. प्रेमी युवक के परिजनों से जानकारी मिलने के बाद पुलिस लॉज पहुंची तो छात्रा का शव फांसी से लटका मिला. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है. मृतक छात्रा के भाई ने शहर थाना में मामला दर्ज कराया है.