• Wed. Oct 5th, 2022

    लॉकडाउन में किशोर कुमार के पैतृक मकान में कपड़े की दुकान, पुलिस हैरान

    May 12, 2020

    लॉकडाउन के दौरान कई व्यापारी चोरी-छिपे अपना कारोबार कर रहे हैं। खंडवा में तो कुछ कपड़ा व्यापारियों ने हद पार कर दी है। लॉकडाउन के दौरान गायक किशोर कुमार के खाली पड़े मकान में ही कपड़े की दुकान खोल दी। खरीदारी के लोगों की भीड़ जमा होने लगी, उसके बाद किसी ने पुलिस को इसकी सूचना दे दी।

     

    मौके पर पहुंची पुलिस भी यह देख हतप्रभ रह गई। दरअसल, खंडवा जिले में लॉकडाउन की वजह से कपड़ा दुकानों पर प्रतिबंध है। बॉम्बे बाजार में दुकानदार ने कपड़े की दुकान तो नहीं खोली। लेकिन दुकान से कपड़े निकालकर वह गायक किशोर कुमार के वीरान पड़े मकान में पहुंच गया। मकान के गेट से वह लोगों को कपड़ा बेचने लगा। इलाके में लोगों को जैसे की कपड़े की बिक्री के बारे में जानकारी मिली तो भीड़ उमड़ने लगी।

    सूचना पर पहुंची पुलिस

    सूचना मिलने पहुंची पुलिस की टीम भी भीड़ देख हैरान रह गई। उसके बाद पुलिस ने वहां से कपड़ा बेच रहे युवक को थाने ले गई। पुलिस के अनुसार युवक गेट की आड़ में छिपकर कपड़ा बेच रहा था। लोग बाहर खड़े होकर खरीद रहे थे।

     

    खंडवा में ही बीता है किशोर कुमार बचपन

    गायक किशोर कुमार का बचपन खंडवा में ही बीता है। उनका पुश्तैनी घर अभी भी यहां है लेकिन अनदेखी की वजह से वह खंडहर में तब्दील हो रहा है। किशोर कुमार जन्म खंडवा में ही 4 अगस्त 1929 को हुआ था। उनका बचपन का नाम आभास गांगुली था। खंडवा से उनका विशेष लगाव भी रहा है। उनके जन्मदिन और पुण्यतिथि पर आज भी खंडवा में कलाकारों का जमावड़ा लगता है।