• Sun. Dec 4th, 2022

    Nag Panchami 2020: आज दुर्लभ योग, काल सर्प दोष निवारण के लिए करें ये उपाय

    Jul 24, 2020

    Nag Panchami 2020: सावन माह की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नाग पंचमी तिथि को नाग पंचमी के रूप में मनाया जाता है. इस दिन नाग देवता की पूजा का विधान है. मान्यता है कि आज के दिन सांपों की पूजा करने से नाग देवता प्रसन्न होते हैं. नाग पंचमी के दिन वासुकी नाग, तक्षक नाग , शेषनाग की पूजा की जाती है।

    नाग पंचमी शुभ मुहूर्त

    नाग पंचमी 25 जुलाई ( शनिवार )
    नाग पंचमी पूजा मूहूर्त- सुबह 05.39 बजे से 08.22 बजे तक

    पंचमी तिथि प्रारम्भ- 24 जुलाई 2020 को 02.34 बजे
    पंचमी तिथि समाप्त- 25 जुलाई 2020 को 12.02 बजे

    पूजा सामग्री

    नाग पंचमी के दिन नाग देवता की पूजा करने के लिए नाग चित्र या मिट्टी की सर्प मूर्ति, लकड़ी की चौकी, जल, पुष्प, चंदन, दूध, दही, घी, शहद, चीनी का पंचामृत, लड्डू और मालपुए, सूत्र, कुमकुम, सिंदूर, बेलपत्र, आभूषण, पुष्प माला, धूप-दीप, पान का पत्ता, दूध, कुशा, गंध, धान, लावा, गाय का गोबर, घी, खीर फल आदि।

    नाग पंचमी पर दुर्लभ योग

    आज के दिन उत्तरा फाल्गुनी और हस्त नक्षत्र के प्रथम चरण में दुर्लभ योग बन रहा है। शास्त्रों में इस योग में कालसर्प योग की शांति करवाने का विधान बताया गया है. ज्योतिष के जानकारों के अनुसार, इस दिन परिगणित और शिव नामक योग भी बन रहा है. जिसकी वजह से भी इस बार नागपंचमी का दिन बहुत ही शुभ है. माना जाता है कि नागपंचमी के दिन पूजन करने से नागों की कृपा के साथ शनि, राहु आदि ग्रहों के नकारात्मक प्रभाव से भी मुक्ति मिलती है.