• Sat. Oct 1st, 2022

    Raksha Bandhan 2020: सावन की आखिरी सोमवारी और रक्षाबंधन, इस शुभ संयोग में बांधें राखी

    Aug 2, 2020

    Raksha Bandhan 2020: सावन की आखिरी सोमवारी और रक्षाबंधन आज मनाया जाएगा. आज लाखों श्रद्धालु भगवान शिव पर जलाभिषेक करेंगे. वहीं दूसरी तरफ बहने अपने भाइयों की कलाइयों राखी बांधेंगी.

    राखी बांधने का मुहूर्त

    ज्योतिष के जानकारों के अनुसार, रक्षाबंधन के दिन राखी शुभ मुहूर्त में ही राखी बांधी जानी चाहिए. माना जाता है कि शुभ मुहूर्त में राखी बांधने से पुण्य प्राप्त होता है. इस बार रक्षा बंधन पर ग्रह और नक्षत्र से शुभ संयोग का निर्माण हो रहा है.

    ज्योतिष के जानकारों के अनुसार, इस बार रक्षाबंधन के दिन पूर्णिमा की तिथि और सोमवार एक साथ पड़ने से सौम्या तिथि का शुभ योग बन रहा है. माना जाता है कि सौम्या तिथि में किए गए कार्यों का फल शुभ होता है. आज के दिन आयुष्मान योग भी बन रहा है. आज के दिन चंद्रमा मकर राशि में रहेंगे और सूर्य का नक्षत्र अश्लेषा होगा.

    इस समय बांध सकते हैं राखी

    सुबह 9 बजे से 10.22 तक
    दोपहर 1.40 बजे से शाम 6.37 बजे तक

    आज के दिन जलाभिषेक अति फलदायी

    ज्योतिष के जानकारों के अनुसार, सावन की 5वीं सोमवारी पर श्रावणी पूर्णिमा, बुधादित्य योग, विषयोग व उत्तराषाढ़ा नक्षत्र का संयोग है. पूर्णिमा के देवता चंद्रदेव हैं और सोमवार के भगवान शिव हैं. भगवान शिव के माथे पर चंद्रमा विराजमान हैं. मान्यता है कि उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में ही देवताओं ने असुरों पर विजय प्राप्त की थी, ऐसे में यह संयोग शुभ फलदायी है. माना जाता है कि उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में भगवान शिव की पूजा करने से हर तरह की विपत्तियों का नाश होता है.

    राशि के अनुसार बांधें रखी

    मेष राशि- लाल
    वृष राशि- सफेद
    मिथुन राशि- हरा
    कर्क राशि- सफेद
    सिंह राशि- लाल
    कन्या राशि- हरा
    तुला राशि- सफेद
    वृश्चिक राशि- लाल
    धनु राशि- पीला
    मकर और कुंभ राशि- नीला या बैगनी
    मीन राशि- पीला