• Mon. Sep 26th, 2022

    एक ही दिन सूर्य ग्रहण और शनि अमावस्या, संकट से बचने के लिए इन बातों का रखें खास ख्याल

    Dec 3, 2021

    Surya Grahan And Shani Amavasya: 4 दिसंबर को साल का आखिरी सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2021) लगने जा रहा है. इसी दिन शनि अमावस्या (Shani Amavasya 2021) भी है. ऐसे में इस दिन अद्भुत संयोग बनने जा रहा है. सभी अमावस्या में से शनि अमावस्या को काफी महत्वपूर्ण माना जाता है.

    मार्गशीर्ष महीने के कृष्ण पक्ष की अमावस्या में लगने वाले सूर्य ग्रहण का काफी महत्व होता है. आपको बतासदें कि भारत में यह सूर्य ग्रहण नहीं दिखाई देगा जिस कारण इसका सूतक काल भी मान्य नहीं होगा. सूतक न होने के चलते मंदिर खुले रहेंगे. घर व मंदिरों में पूजा पाठ चलते रहेंगे.

    शनि अमावस्या का समय (Shani Amavasya 2021 Timings)

    मार्गशीर्ष, कृष्ण अमावस्या
    प्रारम्भ – 04:55 पी एम, दिसम्बर 03
    समाप्त – 01:12 पी एम, दिसम्बर 04

    सूर्य ग्रहण का समय (Surya Grahan 2021 Timings)

    सूर्य ग्रहण 4 दिसंबर की सुबह 10 बजकर 59 मिनट पर शुरू होगा, जो दोपहर 03 बजकर 07 मिनट पर समाप्त होगा.

    संकट से बचने के लिए करें ये काम

    सूर्य ग्रहण और शनि अमावस्या का समय लगभग साथ ही पड़ रहा है. ऐसे में सूर्य ग्रहण के साथ ही शनि देव के प्रकोप का भी सामना करना पड़ सकता है. ऐसे में इससे बचने के लिए आपको कुछ काम करने होंगे.

    1. इस दिन पंचामृत स्नान, तिल-तेल से शनि देव का अभिषेक करें, साथ ही शनि चालीसा का भी पाठ करें.
    2. एक ही दिन सूर्य ग्रहण और शनि अमावस्या होने के चलते दान करना बेहद शुभ रहेगा.
    3. इस दिन तेल, जूते-चप्पल, लकड़ी का पलंग, छाता, काले कपड़े और उड़द की दाल का दान करने से कुंडली में मौजूद शनि दोष खत्म हो जाता है.
    4. ग्रहण समाप्त होने के बाद घर में गंगा जल का छिड़काव करना चाहिए.
    5. ग्रहण खत्म होने के बाद एक बार फिर स्नान करना चाहिए.
    6. ग्रहण काल के दौरान खाने-पीने की चीजों में तुलसी का पत्ता डालना चाहिए.