• Mon. Sep 26th, 2022

    पुरी में रथ यात्रा निकालने की ‘सुप्रीम’ प्रमीशन, पर ये है शर्त

    Jun 22, 2020

    New Delhi: पुरी में भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा निकाली जाएगी. सुप्रीम कोर्ट ने शर्तों के साथ राथ यात्रा निकालने की अनुमति दे दी है. इससे पहले 18 जून को सु्प्रीम कोर्ट ने कोरोना महामारी के कारण रोक लगा दी थी.

    इसके बाद सुप्रीम कोर्ट में इस फैसले के खिलाफ कई पुनर्विचार याचिकाएं दाखिल हो गईं और कोर्ट से अपने पूर्व के आदेश पर रोक लगाने की मांग की गई। पुनर्विचार याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस एसए बोबडे के नेतृत्व में 3 जजों की बेंच ने सोमवार को रथ यात्रा निकालने की अनुमति दे दी. कोर्ट में केंद्र सरकार ने भी रथ यात्रा का समर्थन किया है.

    सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि हम यह राज्‍य सरकार के ऊपर छोड़ते हैं कि वह लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य और सुरक्षा पर खतरा होने पर धार्मिक आयोजन को रोकने के लिए स्‍वतंत्र है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य से समझौता किए बिना मंदिर कमेटी, राज्‍य सरकार और केंद्र सरकार के समन्‍वय से यह आयोजन किया जा सकता है.

    सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य और उनकी सुरक्षा के साथ समझौता नहीं कर सकते. कोर्ट ने साफ-साफ कहा कि अगर रथ यात्रा के कारण कोरोना वायरस का प्रसार हुआ तो यह विनाशकारी हो सकता है, क्‍योंकि इसमें बड़ी संख्‍या में लोग एकत्र होते हैं.

    वहीं, सुप्रीम कोर्ट से रथ यात्रा की मंजूरी के बाद ओडिशा के मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक ने अपने ट्विटर पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा ‘जय जगन्‍नाथ’. सीएम पटनायक ने आज शाम को भुवनेश्‍वर में रथ यात्रा की तैयारियों को लेकर एक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई है.