• Fri. Dec 2nd, 2022

    पंजाब में कंगना रनौत का विरोध, किसानों ने कार पर किया हमला, जमकर हुई नारेबाजी

    Dec 3, 2021

    पंजाब में अभिनेत्री कगंना रनौत की कार पर हमला हुआ है. कंगना ने दावा किया है कि हमला करने वालों ने अपने आप को किसान बताया है. उन्होंने इसकी जानकारी सोशल मीडिया पर दी है. हालांकि, इस हमले के बारे में अब तक कोई भी जानकारी पुलिस की ओर से नहीं दी गई है.

    आपको बता दें कि इससे पहले बीते दिनों अभिनेत्री कंगना ने अमृतसर के स्वर्ण मंदिर से अपनी कुछ तस्वीरें पोस्ट करके एक लंबा नोट लिखा था. इसमें उन्होंने बताया है कि उन्हें खुलेआम जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं. कंगना ने ये जानकारी भी दी थी कि उन्होंने धमकी देने वालों के खिलाफ हिमाचल प्रदेश के एक पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज करवाई है.

    उन्होंने सोनिया गांधी को भी लिखा था कि पंजाब के मुख्यमंत्री को निर्देश दें कि ऐसे लोगों के खिलाफ तुरंत ऐक्शन लें. अभिनेत्री ने कृर्षि कानूनों के समर्थन में कुछ पोस्ट भी किए थे. उसके बाद उन्होंने कानून का विरोध करने वालों पर टिप्पणी की थी. उसके बाद उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई थी.

    कंगना सोशल मीडिया पर हमेशा कुछ न कुछ पोस्ट करती रहती हैं. उनके कई पोस्ट विवादास्पद रहते हैं. उन्हीं में से एक पोस्ट के बारे में हम आपको बता रहे हैं.

    कंगना ने लिखा था, मुंबई में हुए आतंकी हमले के शहीदों को याद करते हुए मैंने लिखा था कि गद्दारों को कभी माफ नहीं करना, ना ही भूलना. इस तरह की घटना में देश के अंदरूनी देशद्रोही ग़द्दारों का हाथ होता है. देशद्रोही गद्दारों ने कभी पैसे के लालच में तो कभी पद व सत्ता के लालच में भारत मां को कलंकित करने के लिए एक भी मौका नहीं छोड़ा, देश के अंदरूनी जयचंद और गद्दार षड्यंत्र रच देश विरोधी ताकतों को मदद करते रहे,

    तभी इस तरह की घटनाएं होती हैं. मेरे इसी पोस्ट पर मुझे विघटनकारी ताकतों की तरफ से निरंतर धमकियां मिल रही हैं. बठिंडा के एक भाई साहब ने तो मुझे खुलेआम जान से मारने की धमकी दी है. मैं इस तरह की गीदड़ भभकी या धमकियों से नहीं डरती. देश के खिलाफ षड्यंत्र करने वालों और आतंकी ताकतों के खिलाफ बोलती हूं और हमेशा बोलती रहूंगी.

    वह चाहे बेगुनाह जवानों के हत्यारे नक्सलवादी हो, टुकड़े टुकड़े गैंग हो या आठवें दशक में पंजाब में गुरुओं की पावन भूमि को देश से काटकर खालिस्तान बनाने का सपना देखने वाले विदेशों में बैठे हुए आतंकवादी हो..

    लोकतंत्र हमारे देश की सबसे बड़ी ताकत है, सरकार किसी भी पार्टी की हो, लेकिन देश की अखंडता, एकता और नागरिकों के मौलिक अधिकारों की रक्षा और विचारों की अभिव्यक्ति का मौलिक अधिकार हमें बाबासाहेब अम्बेडकर के सविंधान ने दिया है. मैंने किसी भी जाति, मजहब, या समूह के बारे में कभी कोई अपमानजनक या नफरत फैलाने वाली बात नहीं की है.

    कंगना ने आगे लिखा, मैं कांग्रेस की अध्यक्षा सोनिया गांधी को भी याद दिलाना चाहूंगी कि आप भी एक महिला हैं, आपकी सास इंदिरा गांधी इसी आतंकवाद के खिलाफ अंतिम समय तक मजबूती से लड़ीं. कृपया पंजाब के अपने मुख्यमंत्री को निर्देश दें कि वह इस तरह के आतंकवादी, विघटनकारी और देशविरोधी ताकतों की धमकी पर तुरंत कार्रवाई करें.