• Sun. Sep 25th, 2022

    हाथ चूम कर कोरोना ‘भगाता’ था असलम बाबा, इलाज के लिए आए 19 लोग संक्रमित

    Jun 12, 2020

    कोरोना बीमारी से इलाज के लिए सरकार लगातार लोगों को जागरूक कर रही है। उसके बावजूद भी कुछ लोग अंधविश्वास के चक्कर में पड़ जा रहे हैं। रतलाम में कुछ अंधविश्वासी लोग कोरोना के लक्षण दिखने के बाद इलाज करवाने के लिए एक बाबा के पास जाते थे। कोरोना से 4 जून को बाबा की मौत हो गई है। उसके बाद इलाज कराने गए लोगों की रिपोर्ट भी दनादना कोरोना पॉजिटिव आ रही है। अब रतलाम शहर में हड़कंप मचा हुआ है।

     

    दरअसल, रतलाम के नयापुरा इलाके में रहने वाला असलम बाबा लोगों का हाथ चूम कर इलाज करता था। अंधविश्वास के चक्कर में पड़ कर शहर के लोग उसके पास इलाज करवाने जाते थे। असलम बाबा खुद कोरोना से संक्रमित था, उसके बाद भी वह लोगों से मिलता रहा था। 4 जून को असलम बाबा की मौत हो गई। बाबा के संपर्क में आए लोगों की रिपोर्ट अब कोरोना पॉजिटिव आ रही है।

     

    19 लोग अब तक संक्रमित

    स्थानीय अखबार की रिपोर्ट के अनुसार बाबा के संपर्क में आए 19 लोगों की रिपोर्ट अब तक कोरोना पॉजिटिव आई है। जिला प्रशासन ने 29 बाबाओं को क्वारंटीन भी किया है। दरअसल, मंगलवार रात रतलाम शहर में 24 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। 24 में से 13 लोग नयापुरा इलाके के थे, जो बाबा के संपर्क में आए थे। बाबा के संपर्क में आए लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद नयापुरा इलाके में खलबली मची हुई है।

     

    हाथ चूम भगाता था कोरोना

    जानकारी के अनुसार असलम बाबा हाथ चूम कर कोरोना का इलाज करता था। प्रशासन द्वारा जागरूकता चलाए जाने के बाद भी स्थानीय लोग असलम से इलाज कराने जाते थे। वह तंत्र-मंत्र के जरिए कोरोना भगाने का दावा करता था। 4 जून को बाबा की कोरोना से मौत हुई, उसके बाद इसके संपर्क में आए लोगों की पड़ताल शुरू की गई, जिसमें से 7 जून को 6 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

     

    गौरतलब है कि एमपी में कोरोना मरीजों की संख्या 10 हजार के पार पहुंच गई है। बुधवार को सिर्फ 200 मरीज सामने आए हैं। राजधानी भोपाल में भी बुधवार को 85 नए कोरोना मरीज मिले हैं, जबकि इंदौर में कोरोना के 51 मरीज मिले हैं।