• Mon. Sep 26th, 2022

    बिहार में आसमानी आफत से 83 लोगों की मौत, अगले 24 घंटे के लिए डेंजर जोन में हैं ये जिले

    Jun 25, 2020

    Patna: बिहार के अलग-अलग जिलों में गुरुवार को वज्रपात से 83 लोगों की मौत हो गई तथा बड़ी संख्या में लोग झुलस गए।

    आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, वज्रपात से गोपालगंज में 13, पूर्वी चम्पारण में पांच, सीवान में छह. दरभंगा में पांच, बांका में पांच, भागलपुर में छह, खगड़िया में तीन, मधुबनी में आठ, पश्चिम चम्पारण में दो, समस्तीपुर में एक, शिवहर में एक, किशनगंज में दो, सारण में एक, जहानाबाद में दो, सीतामढ़ी में एक, जमुई में दो, नवादा में आठ, पूर्णिया में दो, सुपौल में दो, औरंगाबाद में तीन, बक्सर में दो, मधेपुरा में एक और कैमूर में दो लोगों की मौत हुई है।

    इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्राकृतिक आपदा में 83 लोगों की मौत पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि वह आपदा की इस घड़ी में प्रभावित परिवारों के साथ हैं। उन्होंने तत्काल मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रुपये अनुग्रह अनुदान देने का निर्देश दिया है।

    सीएम ने लोगों से खराब मौसम में पूरी सतर्कता बरतने की अपील करते हुए कहा कि इस तरह के मौसम में वज्रपात से बचाव के लिये आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा समय-समय पर जारी किये गये सुझावों का अनुपालन करें। खराब मौसम में घर में रहें और सुरक्षित रहें।

    मौसम विभाग ने गुरूवार और शु्क्रवार के लिए राज्य में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। इस अलर्ट के अनुसार विभाग ने गुरुवार को अररिया और किशनगंज जिले को रेड जोन में रखा है। पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज, सीवान, सारण, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, शिवहर, समस्तीपुर, सुपौल, पूर्णिया, सहरसा और मधेपुरा को ऑरेंज जोन में रखा गया है।