• Wed. Sep 21st, 2022

    चंबल नदी में पलटी नाव: 11 लोगों की मौत, कई लापता, 40 लोग थे सवार

    Sep 16, 2020

    Kota. राजास्थान के कोटा जिले के इटावा के पास एक दर्दनाक हादसे में 11 लोगों की मौत हो गई है. चंबल नदी में नाव पलटने से 11 लोगों की मौत हो गई. जबकि घटना के बाद से कई लोग लापता हैं. स्थानीय प्रशासन, ग्रामीण और पुलिस टीम बचाव अभियान में जुटी है. बचाव कार्य में तेजी लाने के लिए राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) की टीम भी वहां पहुंची है.

    हादसा बुधवार सुबह 9 बजे हुआ. मृतकों में 6 पुरुष, 4 महिलाएं और 1 बच्चा शामिल है. बताया जा रहा है कि नाव चलाने वाला तैरकर बाहर निकल आया. बताया जा रहा है कि नाव में 40 लोग सवार थे. बताया जा रहा है कि इसके साथ ही नाव में 14 बाइक भी रखी थी. घटना के बाद मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने लोगों को बचाने की कोशिश की, लेकिन बहाव तेज होने की वजह से कुछ लोग बह गए. पुलिस ने बताया कि ये लोग कमलेश्वर धाम जा रहे थे.

    25 लोगों की जान बचाई

    चार लड़कों ने 25 लोगों की जान बचाई. उन्होंने बताया कि नाव वाले ने ज्यादा लोगों को बैठाने से इनकार किया था, फिर भी लोग नहीं माने और नाव में चढ़ते गए. लोगों को बचाने के लिए कुछ देर में दूसरी नाव भी गहरे पानी में पहुंची, लेकिन तब तक कई लोग डूब चुके थे.

    सीएम ने जताया शोक

    राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने हादसे पर दुख प्रकट किया है, उन्होंने कहा- कोटा में थाना खातोली क्षेत्र में चम्बल ढिबरी के पास नाव पलट जाने की घटना बेहद दुखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण है. हादसे का शिकार हुए लोगों के परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं. कोटा प्रशासन से बात कर घटना की जानकारी ली है. तत्परता से राहत एवं बचाव के साथ ही लापता लोगों को शीघ्र ढूंढने के निर्देश दिए हैं. स्थानीय पुलिस एवं प्रशासन घटनास्थल पर मौजूद है. प्रभावित परिवारों को मुख्यमंत्री सहायता कोष से मदद के लिए निर्देश दिए हैं.

    कई लोग लापता

    जिला कलेक्टर उज्जवल सिंह राठौड़ ने कहा कि गोठड़ा कलां के करीब तीन दर्जन ग्रामीण चंबल नदी के उस पार कमलेश्वर धाम जा रहे थे, इसी दौरान खतोली के पास नाव पलट गई. राठौड़ ने कहा कि उनमें से कुछ लोग तैरकर किनारे आने में कामयाब रहे, लेकिन अभी कई लोगों के लापता होने की खबर है.