• Tue. Nov 29th, 2022

    Corona से बचने के लिए बना ‘कोरोना वाले महादेव’ मंदिर, जानिए क्या है इसकी कहानी

    Jun 3, 2020

    कोरोना महामारी के बीच अब लोगों की उम्मीदें सिर्फ भगवान से ही हैं। बिहार में लोग कोरोना माता की पूजा कर रहे हैं, तो मध्य प्रदेश में कोरोना वाले महादेव का मंदिर (corona wale mahadev mandir) बन गया है। बैतूल जिले के चिचोली थाना परिसर में एक रिटायर्ड थानेदार ने कोरोना वाले महादेव मंदिर का निर्माण करवाया है। अब पूरे इलाके में इस मंदिर को लेकर तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं। चिचोली के लोग यहां तक मानने लगे हैं कि कोरोना वाले महादेव की वजह से हमारे इलाके में कोरोना वायरस नहीं पहुंचा है।

    दरअसल, चिचोली थाने से रिटायर्ड थाना प्रभारी ने अपने थाना परिसर में एक मंदिर का जीर्णोद्धार कराने के बाद मंदिर को कोरोना वाले महादेव का मंदिर नाम दे दिया है। अब पूरे इलाके में इस मंदिर की चर्चा खूब हो रही है। लॉकडाउन की वजह से श्रद्धालु कम आते हैं, लेकिन आसपास के लोग जरूर महादेव का आशीर्वाद लेने आ रहे हैं। चिचोली इलाके में कोरोना का एक भी मरीज अभी तक नहीं मिला है, रिटायर्ड थाना प्रभारी सब महादेव की कृपा मान रहे हैं।

     

    https://www.facebook.com/107368877632598/posts/128782635491222/

    100 साल पुराना है मंदिर

    चिचोली थाना परिसर में स्थित यह मंदिर करीब 100 साल पुराना है। समय के साथ यह मंदिर जीर्ण-शीर्ण अवस्था में पहुंच गया था। साथ ही भोलेनाथ की प्रतिमा भी काफी पुरानी हो चुकी थी। कुछ दिन पहले विशालकाय पेड़ गिर गया था, जिससे मंदिर को नुकसान पहुंचा था। रिटायर्ड थानेदार ने बताया कि मंदिर की हालत देख बहुत पीड़ा होती थी। इस वजह से मैंने जीर्णोद्धार करवाने का फैसला किया। मंदिए का नए सिरे से निर्माण का कार्य महीनों से चल रहा था। लेकिन लॉकडाउन की वजह से ब्रेक लग गया था।

    प्राण-प्रतिष्ठा करवाया

    आरडी शर्मा ने बताया कि मंदिर का निर्माण पूरा हो गया था। कोरोना की वजह से प्राण-प्रतिष्ठा नहीं हो पा रहा था। साथ ही रिटायरमेंट की तारीख भी नजदीक आ रही थी। कोरोना संकट के बीच लोगों ने यह फैसला किया कि इस मंदिर का नाम कोरोना वाले महादेव रखा जाए। नामकरण होने के बाद 2 पंडितों को बुलाया गया और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए प्राण-प्रतिष्ठा किया गया है।

     

    2 महीने से एक भी मरीज नहीं

    रिटायर्ड थाने आरडी शर्मा यह दावा भी कर रहे हैं कि पूरे 2 महीने से ज्यादा वक्त बीत चुका है, लेकिन चिचोली नगर में एक भी व्यक्ति को कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी छू भी नहीं पाई है। उन्हें उम्मीद है कि भगवान भोलेनाथ दुनिया को इस बीमारी से निजात दिलाएंगे। ऐसे में अब लोगों की आस्था भी इस मंदिर के प्रति बढ़ी है। थाना परिसर में मौजूद पुलिसकर्मी भी महादेव को नमन करने आते हैं।