• Mon. Nov 28th, 2022

    झारखंड, महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश ने जताई ट्रेन चलाने के फैसले पर आपत्ति

    Jun 1, 2020

    भारतीय रेलवे एक जून ( सोमवार ) से 200 ट्रेनें चलाने जा रही है, लेकिन झारखंड, आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र ने इस पर आपत्ति जताई है। जानकारी के अनुसार, झारखंड, आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र ने प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामले का हवाला देते हुए ट्रेन परिचालन का विरोध किया है।

     

    ट्रेन रद्द और स्टॉपेज कम करने की मांग

     

    मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, झारखंड ने राज्य से गुजरने वाली चार ट्रेन रद्द करने की मांग की है। इसके अलावे 20 अन्य ट्रेनों का स्टॉपेज घटाने की मांग की है। माना जा रहा है कि झारखंड सरकार का कहना है कि सभी रेलवे स्टेशनों के यात्रियों को क्वारंटीन नहीं किया जा सकता।

     

    चल रही है बात

     

    मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, रेलवे अधिकारी राज्यों के साथ मामले पर विचार विमर्श कर रहे हैं, ताकि समय रहते समस्या का समाधान निकाल लिया जाए और सोमवार ( 1 जून ) से ट्रेनों का परिचालन हो सके। गौरतलब है कि कोरोना लॉकडाउन के कारण ट्रेनों की थम चुकी रफ्तार को रेलवे फिर से पटरी पर दौड़ाना चाहती है। स्पेशल ट्रेनों के बाद सोमवार से रेलवे पैसेंजर ट्रेनें चलाने जा रही है।

    पहले दिन लगभग 1.50 लाख यात्री करेंगे सफर

     

    रेलवे के मुताबिक पहले दिन 1.50 लाख यात्री यात्रा करेंगे। जानकारी के अनुसार, रविवार तक 26 लाख से अधिक यात्रियों ने बुकिंग कराई है।