• Wed. Sep 21st, 2022

    गंगा नदी के नीचे मेट्रो लाइन बिछाने की प्रक्रिया शुरू

    Sep 6, 2020

    Kolkata. बहुप्रतीक्षित ईस्ट वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर में आखिरकार गंगा नदी के नीचे लाइन बिछाने का काम शुरू हो गया है. यह भारत की पहली ऐसी मेट्रो ट्रेन है जो नदी के नीचे से होकर गुजरती है. लाइन बिछाने का काम हावड़ा मैदान से एस्पलानेड तक चल रहा है.

    रेल पटरियां पिछले जुलाई में यूरोप के ऑस्ट्रिया से कोलकाता पहुंची थी. अमेरिकी मशीन ‘मोबाइल फ्लैशबैट वेल्डिंग’ लाइन बिछाने के लिए आई थी. इसे लाइन के साथ जोड़ा जा रहा है.

    केएमआरसीएल के अनुसार, हावड़ा मैदान से सियालदाह तक 6 किमी लाइन बिछाई जानी है. फिलहाल, इसे हावड़ा मैदान और सुभाष सरोबर मेट्रो कास्टिंग यार्ड में विभाजित किया जा रहा है. 18 मीटर लंबे रेलवे का एक खंड लाया गया है. इन्हें जोड़ा जा रहा है.

    केएमआरसीएल के जीएम इलेक्ट्रिकल, नरेश चंद्र करमाली ने कहा, “मेट्रो लाइन में कोई जोड़ नहीं हैं. इसलिए प्रत्येक टुकड़े को एक विशेष उपकरण के साथ मोबाइल फ्लैशबोट वेल्डिंग के साथ लगाया जाएगा. फिर इसे विभिन्न तापमानों पर परीक्षण किया जाएगा।”

    अधिकारियों के अनुसार, मेट्रो लाइन या तो भूमिगत सुरंग है या जमीन से बहुत ऊपर है. नतीजतन, यहां लाइन को बदलना कोई आसान काम नहीं है. इसलिए स्टील की मजबूत पटरियां लाई गयी हैं जो कम से कम 100 वर्षों तक इस्तेमाल की जा सकेगी.