• Sun. Oct 2nd, 2022

    Tokyo Olympics: पीवी सिंधु ने रचा इतिहास, पीएम मोदी बोले- आप पर देश को गर्व है

    Aug 1, 2021

    Tokyo Olympics: भारत की बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु ने Tokyo Olympics में कांस्य पदक जीत लिया है. इस तरह भारत के खाते में एक और पदक जुड गया. पीवी सिंधु ने चीन की बिंगजियाओ को सीधे गेम 21-13, 21-15 से हराकर कांस्य पदक पर कब्जा किया. पीवी सिंधु ओलंपिक के व्यक्तिगत इवेंट में दो पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनी हैं.

    बता दें कि महिला एकल बैडमिंटन में कांस्य पदक मुकाबले में भारतीय शटलर सिंधु ने चीन की हे बिंगजिआओ के खिलाफ पहले गेम में शुरुआती बढ़त बनाई, लेकिन चीन की बिंगजियाओ ने वापसी की है। वह पहले गेम में 0-4 से पीछे चल रही थीं. बाद में उन्होंने सिंधु की बराबरी कर स्कोर 6-6 पर बराबर किया.

    सिंधु और बिंगजियाओ के बीच पहले गेम में जोरदार टक्कर देखने को मिली. सिंधु ने एक बार फिर बढ़त बना ली और 8-6 से आगे हो गईं. इसके बाद सिंधु ने पहले सेट में बढ़त जारी रखी और पहला गेम 21—13 से जीता. बता दें कि पहला सेट सिंधु ने 23 मिनट में जीता.

    दूसरे सेट में भी सिंधु ने बेहतरीन प्रदर्शन किया. हालांकि बिंगजिआओ भी उन्हें कड़ी टक्कर देती नजर आईं. दूसरे गेम में सिंधु ने 11—8 से बढ़त बना ली थी. इसके बाद सिंधु ने बढ़त जारी रखी और शानदार प्रदर्शन करते हुए दूसरा सेट 20—15 से जीत लिया.

    गौरतलब है कि शनिवार को पीवी सिंधु का सेमीफाइनल में मुकाबला वर्ल्ड की नंबर एक शटलर चीनी ताइपे की ताई जू यिंग से हुआ था. इस मुकाबले में सिंधु को 21-18, 21-12 से सीधे सेटों में हार का सामना करना पड़ा था.

    पीएम मोदी ने की सिंधु से बात
    टोक्यो ओलंपिक के महिला बैडमिंटन एकल स्पर्धा में कांस्य पदक जीतने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीवी सिंधु को बधाई दी और कहा कि वह न सिर्फ भारत की गर्व हैं, बल्कि सबसे उत्कृष्ट ओलंपिक खिलाड़ियों में से एक भी हैं. बाद में प्रधानमंत्री ने फोन पर सिंधु से बात की और उन्हें बधाई दी.

    मोदी ने ट्वीट कर कहा- ‘पीवी सिंधु हम सभी आपके शानदार प्रदर्शन से उत्साहित हैं. टोक्यो ओलंपिक 2020 में कांस्य पदक जीतने के लिये बधाई. वह भारत का गौरव हैं और हमारे बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक हैं.’

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी सिंधु को ट्वीट कर बधाई दिया. राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, ‘पीवी सिंधु दो ओलंपिक खेलों में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनी. उन्होंने निरंतरता, समर्पण और उत्कृष्टता के नये मापदंड बना दिये. भारत को गौरवान्वित करने के लिये उन्हें मेरी बधाई.’