• Thu. Sep 22nd, 2022

    #ChinaIndiaFaceoff : गलावन घाटी में 20 जवान शहीद, चीन के 43 सैनिक हताहत

    Jun 16, 2020

    New Delhi. पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार को चीन की सेना के साथ झड़प में कम से कम 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए हैं। भारतीय सेना ने देर शाम इसकी पुष्टि की। सूत्रों ने बताया है कि यह संख्या और भी बढ़ सकती है।

    इससे पहले दिन में एक अफसर समेत तीन जवानों के शहादत की खबर आई थी। उसके बाद से ही दिल्ली में ताबड़तोड़ बैठकों का दौर जारी रहा। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को दो बार लद्दाख के हालात को लेकर समीक्षा बैठक की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी मौजूदा हालात से अवगत करा दिया गया है।

    पूर्वी लद्दाख सीमा पर मई में बढ़ी है कड़वाहट

    गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच मई महीने की शुरुआत से ही लद्दाख बॉर्डर पर तनाव बढ़ा हुआ है. इस इलाके में चीनी सैनिकों ने भारत द्वारा तय एलएसी को पार कर भारतीय सीमा में घुस आए थे और पेंगोंग झील, गलवान घाटी के पास आ गए थे. पेंगॉन्ग सो झील के पास फिंगर इलाके में भारत द्वारा महत्वपूर्ण सड़क बनाने पर चीन ने कड़ा ऐतराज किया था. इसके अलावा गलवान घाटी में दरबुक-शायोक-दौलत बेग ओल्डी रोड को जोड़ने वाली सड़क पर भी चीन ने आपत्ति जताई थी.

    इसके बाद से ही दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं. चीन की ओर से यहां पर करीब पांच हजार सैनिकों को तैनात किया गया था, इसके अलावा सैन्य सामान भी इकट्ठा किया गया था. वही सीमा पर बढ़े तनाव को कम करने के लिए 6 जून के बाद से कई दौर की बात चल रही थी. CO से लेकर लेफ्टिनेंट जनरल लेवल तक के अफसरों के बीच बातचीत जारी थी. इस बातचीत में ये तय किया गया कि दोनों देशों की सेना कुछ किमी तक पीछे हटी थीं. लेकिन विवाद सुलझाने के लिए जारी वार्ता के बीच दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई.