• Wed. Nov 30th, 2022

    फिर ‘फंसे’ नीतीश कुमार! जहां हो रही ‘उपलब्धि’ की समीक्षा.. उसी के बगल में मिली शराब की खाली बोतलें

    Nov 16, 2021

    पटनाः बिहार में शराबबंदी कानून (Liquor Ban in Bihar) को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) समीक्षा बैठक कर रहे हैं. यह समीक्षा बैठक मुख्यमंत्री सचिवालय संवाद में हो रही है. इसके बगल में ही जो कचरा प्वाइंट है, वहां पर शराब की बोतलें पड़ी हैं. इस समीक्षा में सभी जिले के डीएम, एसपी, जिलों के प्रभारी मंत्री समेत कई विभाग के सचिव भी मौजूद हैं. ऐसे में सचिवालय के बगल में ही पड़ी अंग्रेजी शराब की खाली बोतलों ने सवाल खड़े कर दिए हैं.

    विपक्षी पार्टियां समेत बीजेपी (BJP) भी शराबबंदी कानून के नाम पर मजाक की बात कहती आ रही है. बता दें कि कुछ दिन पहले ही जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष से सीएम आवास तक शराब की डिलीवरी को लेकर सवाल पूछा गया था तब उन्होंने पूछने वाले को तल्ख अंदाज में जवाब दिया था. आज हालांकि यह जांच का विषय है कि शराब की बोतल यहां तक कैसे पहुंची, लेकिन एक बात तो साफ है कि शराब की खाली बोतल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दावों की पोल खोल रही है.

    गौरतलब है कि बिहार में जहरीली शराब से हुई मौतों के बाद जारी विवाद के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) आज शराबबंदी कानून पर समीक्षा बैठक कर रहे हैं. शराबबंदी को लेकर आज मंगलवार को होने वाली समीक्षा बैठक को लेकर नीतीश कुमार ने स्पष्ट शब्दों में कह दिया है कि यह बैठक इसलिए हो रही है कि इस कानून का और सख्ती से पालन किया जा सके. सुझाव और बैठक के बाद उसे और दुरुस्त किया जाएगा.

    बीते सोमवार को ही जेडीयू के प्रवक्ता अभिषेक झा ने कहा था कि यह बैठक इसलिए हो रही है ताकि जो कमियां हैं या कोई सुझाव है तो उसपर बातचीत कर इस कानून को और मजबूत किया जाए. इसलिए ही यह बैठक हो रही है. उन्होंने विपक्ष पर तंज कसते हुए कहा था कि कई लोग यह समझ रहे हैं कि शराबबंदी कानून वापस लेने के लिए यह बैठक हो रही है लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है.