• Sat. Oct 1st, 2022

    बिहार में जहरीली शराब से लाशें बिछने के बाद बोली BJP- बहुत हो गया… अब CM नीतीश को विचार करना चाहिए

    Nov 6, 2021

    पटना: बिहार एनडीए (NDA) के घटक दल बीजेपी (BJP) के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल (Sanjay Jaiswal) ने शराबबंदी कानून की समीक्षा की मांग की है. उन्होंने शनिवार को आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि शराबबंदी कानून को एकबार फिर से रिव्यू करने की आवश्यकता तो है ही. हर हालत में रिव्यू करने की जरूरत है. यह एक अच्छे उद्देश्य से और महिलाओं के पक्ष में लाया हुआ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का बहुत ही बढ़िया प्रयास है.

    इस मुद्दे पर सरकार करे चिंता

    उन्होंने कहा कि कानून लागू कराने के लिए प्रशासन अपने स्तर पर मेहनत भी कर रहा है. लेकिन जहां शराबबंदी नहीं है, वहां भी अवैध शराब बनते हैं और वहां भी इस तरह की घटनाएं होती हैं. इसलिए इस घटना को केवल शराबबंदी से जोड़ना सही नहीं होगा. लेकिन यह जरूर है कि जिन स्थानों पर प्रशासन की भूमिका संदेहास्पद है, उसके बारे में बिहार सरकार को जरूर चिंता करनी चाहिए.

    फिर एक बार विचार होना चाहिए

    संजय जायसवाल ने कहा, ” मेरा मानना है कि अभी शराबबंदी कानून को 5 से 6 साल हो गए हैं, तो इस पर जरूर एक बार विचार होना चाहिए.” मालूम हो कि बिहार में शराबबंदी कानून के लागू होने के बावजूद प्रदेश में आए दिन जहरीली शराब पीने से मौत की घटना सामने आती है. बीते दिनों कथित जहरीली शराब पीने से गोपालगंज, पूर्वी चंपारण, समस्तीपुर, सीवान और मुजफ्फरपुर में 50 से अधिक लोगों की जान चली गई है. इस घटना के बाद विवाद जारी है.

    मुख्यमंत्री ने कड़ी कार्रवाई का दिया आदेश

    हालांकि, इस मामले में मुख्यमंत्री ने 16 नवंबर को समीक्षा बैठक करने की बात कही है. साथ ही मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि शराबबंदी को सरकार ने सख्ती से लागू किया है. जो भी इसे कमजोर करने में लगे हैं, उनकी पहचान कर उन पर कठोर कार्रवाई करें. कोई भी गड़बड़ करने वाला किसी भी स्थिति में बचे नहीं. मद्य निषेध विभाग और पुलिस मुख्यालय रोजाना बैठक कर इसकी समीक्षा करे. हाल के दिनों में जहां-जहां घटनायें घटी हैं, वहां दोषी लोगों पर सख्त कार्रवाई सुनिश्चित हो.