• Wed. Nov 30th, 2022

    नीतीश कुमार ने कहा- थैंक यू PM मोदी, कोरोना से जंग में सही फैसला

    Jun 7, 2021

    पटना: कोरोना काल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को देश की जनता को संबोधित किया. संबोधन के दौरान उन्होंने दो बड़ी घोषणाएं कीं. पहला कि अब 18 से 45 साल की उम्र वाले लोगों की वैक्सीन का 75 प्रतिशत खर्च केंद्र सरकार उठाएगी और दूसरा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत नवंबर तक राशन कार्डधारियों को मुफ्त राशन दिया जाएगा. प्रधानमंत्री की इन दो घोषणाओं के बाद राज्य सरकारें राहत महसूस कर रही हैं.

    नीतीश कुमार ने ट्वीट कर कही ये बात
    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तो ट्वीट कर प्रधानमंत्री के दोनों फैसलों की तारीफ की है. साथ ही धन्यवाद भी दिया है. मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर लिखा, ” पूर्व से केन्द्र सरकार द्वारा 45 वर्ष से उपर के लोगों के टीकाकरण हेतु मुफ्त टीका राज्यों को दिया जा रहा है. अब प्रधानमंत्री द्वारा 18 वर्ष से अधिक और 45 वर्ष से कम आयु वर्ग के सभी लोगों के टीकाकरण के लिए राज्य सरकारों को मुफ्त टीका उपलब्ध कराने और पिछले साल की तरह प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को दीवाली तक बढा़कर सभी राशन कार्डधारियों को मुफ्त राशन देने का फैसला उपयोगी और सराहनीय है. इसके लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद. यह कोरोना से जंग जीतने में मददगार होगा.

    सुशील मोदी ने भी की तारीफ
    इधर, राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने भी ट्वीट कर प्रधानमंत्री के फैसलों की तारीफ की है. उन्होंने कहा, ” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना की दूसरी लहर से निपटने में भी विपरीत परिस्थितियों का सामना करने की अपनी अदम्य क्षमता सिद्ध की. सभी राज्यों को 75 फीसद वैक्सीन मुफ्त देने और प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज देने का कार्यक्रम दीपावली तक जारी रखने की घोषणा बड़ी राहत देने वाली है. बिहार की जनता की ओर से प्रधानमंत्री जी का आभार.”

    सुशील मोदी ने कहा, ” कोरोना संक्रमण को जीतने के लिए कई स्तरों पर जारी लड़ाई के बीच तरह-तरह के सवाल और संदेह पैदा करने वाले तत्वों से सावधान करते हुए प्रधानमंत्री ने आश्वस्त किया कि टीकाकरण अभियान की पूरी जिम्मेदारी अब पहले की तरह केंद्र सरकार ही उठाएगी. इसके लिए दो सप्ताह में गाइड लाइन जारी होगी और इस साल योग दिवस, 21 जून से 18 से अधिक उम्र वाले सभी लोगों के टीकाकरण पर विशेष फोकस रहेगा. अब राज्यों को वैक्सीन पर कुछ भी खर्च नहीं करना पड़ेगा. प्रधानमंत्री की ताजा घोषणाएं  संकट काल में गैरजिम्मेदार विपक्ष की वैक्सीन पोलिटिक्स का कारगर एंटीबॉडी तैयार करने वाली हैं.”