• Sun. Sep 25th, 2022

    कांग्रेस ने पूछा कोरोना महामारी में कहां हैं साध्वी प्रज्ञा, जवाब- अपकी प्रताड़न झेल रही हूं

    May 15, 2020

    कोरोना महामारी के बीच भोपाल से सांसद साध्वी प्रज्ञा कहीं नहीं दिखाई दे रही हैं। इसे लेकर राजनीति तेज हो गई है। सोशल मीडिया पर कोरोना को लेकर साध्वी प्रज्ञा ने जरूर कुछ ट्वीट किए थे, लेकिन वह कहीं दिख नहीं रही थी। पूर्व मंत्री और विधायक पीसी शर्मा ने कहा कि इस दौर में भोपाल सांसद का गायब होने दुर्भाग्य है। पीसी शर्मा ने सांसद को लापता घोषित कर दिया। इसे लेकर राजनीति तेज हुई, तो साध्वी प्रज्ञा ने कांग्रेस को जवाब दिया है। साथ ही बताया भी है कि वह कहां हैं।

     

    दरअसल, भोपाल दक्षिण-पश्चिम से विधायक और पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि संकट के समय में भोपाल सांसद का गायब होना दुर्भाग्यपूर्ण है, सांसद की बेरूखी से गरीब और आमजन परेशान हैं। उन्होंने कहा कि भोपाल की जनता तमाम परेशानियों से जूझ रही है, लेकिन यहां की सांसद क्षेत्र से नदारद हैं। पीसी शर्मा ने कहा कि सांसद साध्वी प्रज्ञा आज लोगों के बीच होतीं तो दूसरे राज्यों में फंसे भोपाल के मजदूरों को वापस लाने के लिए तेजी से प्रयास करतीं।

    पहले पार्टी ने दिया जवाब

    पीसी शर्मा के आरोपों पर पहले बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष और विधायक रामेश्वर शर्मा ने जवाब दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार में साध्वी प्रज्ञा को काफी प्रताड़ित किया गया था। वह उससे पीड़ित हैं, उन्हें रासायनिक इंजेक्शन दिया गया था। रामेश्वर शर्मा ने कहा कि साध्वी प्रज्ञा की एक आंख में रिएक्शन हो गया है, वो खुलना बंद हो गया है। उन्हें दिखाई नहीं दे रहा है। दिग्विजय सिंह के इशारे पर मनमोहन सिंह की सरकार में उन्हें काफी टॉर्चर किया गया था। उन्होंने कोरोना की लड़ाई में साध्वी प्रज्ञा ने सांसद निधि की पूरी राशि दे दी है। दिल्ली एम्स में लगातार उनका इलाज चल रहा है। हम लोग यहां लोगों की सेवा कर रहे हैं।

     

    साध्वी ने भी दिया जवाब

    भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा ने भी कांग्रेस को करारा जवाब दिया है। उन्होंने लिखा कि मैं अस्वस्थ हूं। कांग्रेस की प्रताड़नाओं का दंश मैं आज भी झेल रही हूं, मेरे बारे में असंवेदनशील बयान कांग्रेस की निम्न मानसिकता का परिचायक है। कांग्रेस हमेशा से महिलाओं का अपमान करती रही है।

    कौन हैं साध्वी प्रज्ञा

    साध्वी प्रज्ञा भोपाल से बीजेपी की सांसद हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने साध्वी को दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनावी मैदान में उतारा था। साध्वी प्रज्ञा मालेगांव धमाके की आरोपी हैं। अभी भी मामले की सुनवाई कोर्ट में चल रही है। टिकट मिलने के बाद से ही वह विरोधियों के निशाने पर रही हैं। साथ ही चुनावों के दौरान भी वह अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रही थीं। चाहे मुंबई एटीएस के पूर्व चीफ हेमंत करकरे को लेकर हो या फिर नाथूराम गोडसे को लेकर, हर बार बीजेपी के लिए नई मुसीबत खड़ी की थीं।