• Wed. Sep 28th, 2022

    राजस्थान के सियासी ड्रामे में कूदे सिंधिया, अशोक गहलोत की मुश्किलें बढ़ाएंगे ज्योतिरादित्य?

    Jul 12, 2020

    Bhopal: राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट और सीएम अशोक गहलोत के बीच सब कुछ ठीक नहीं हैं। सचिन पायलट के पुराने साथी और बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया उनके समर्थन में उतर आए हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सचिन पायलट के पक्ष में ट्वीट किया है। साथ ही उन्होंने सीएम गहलोत पर बड़ा आरोप लगाया है।

    राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर लिखा है कि मुझे ये बहुत दुखी करता है कि मेरे पुराने सहयोगी सचिन पायलट को राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत के द्वारा साइडलाइन कर दिया गया है और उन्हें सताया जा रहा है। कांग्रेस में योग्यता और प्रतिभा का महत्व नहीं है। ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस ट्वीट के सियासी मायने लगाए जा रहे हैं।

    दरअसल, खरीद-फरोख्त लेकर राजस्थान में डिप्टी सीएम सचिन पायलट को नोटिस जारी किया है। इस पर विवाद बढ़ने के बाद सीएम अशोक गहलोत ने सफाई दी है। गहलोत ने ट्वीट कर कहा है कि एसओजी को जो कांग्रेस विधायक दल ने बीजेपी नेताओं द्वारा खरीद-फरोख्त की शिकायत की थी, उस संदर्भ में सीएम, डिप्टी सीएम, चीफ व्हिप एवं अन्य कुछ मंत्री और विधायकों को सामान्य बयान देने के लिए नोटिस आए हैं। कुछ मीडिया के द्वारा उसको अलग ढंग से प्रस्तुत करना उचित नहीं हैं।

    सिंधिया और पायलट हैं मित्र

    दरअसल, बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट में अच्छी दोस्ती है। सिंधिया ने बीजेपी ज्वाइन करने से पहले भी सचिन पायलट से दिल्ली में मुलाकात की थी। बीजेपी में शामिल होने के बाद भी उन्होंने एमपी के छात्रों की मदद के लिए सचिन पायलट को फोन किया था। कांग्रेस में रहते हुए सिंधिया और पायलट की जोड़ी की चर्चा खूब होती थी। दोनों कई मौकों पर पूर्व में एक साथ देखे जाते रहे हैं।

    सिंधिया के ट्वीट के मायने

    ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने पर सचिन पायलट ने भी दुख व्यक्त किया था और पार्टी पर सवाल खड़ा किया था। ऐसे में सिंधिया के ट्वीट के मायने निकाले जा रहे हैं, क्या अंदरखाने में कोई खिचड़ी पक रही है। क्योंकि राजस्थान में 2 दिन के सियासी ड्रामे के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पायलट को समर्थन दिया है।