• Fri. Sep 23rd, 2022

    ज्योतिरादित्य सिंधिया की राह पर पायलट, बीजेपी में होंगे शामिल, गिर जाएगी गहलोत सरकार?

    Jul 12, 2020

    New Delhi: राजस्थान में गहराते राजनीतिक संकट के बीच सूबे के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की है. दोनों नेताओं की ये मुलाकात दिल्ली में हुई है. 40 मिनट तक चली ये मुलाकात ज्योतिरादित्य सिंधिया के आवास पर हुई.

    इस मुलाकात के कई मायने निकाले जाने लगे हैं. क्या सचिन पायलट भी ज्योतिरादित्य सिंधिया की राह पर चलेंगे और कांग्रेस से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल होंगे. हालांकि, ये तो चर्चा का विषय है क्योंकि आखिरी फैसला तो सचिन पायलट को ही लेना है.

    बता दें कि राजस्थान की गहलोत सरकार संकट में है. सचिन पायलट और सीएम अशोक गहलोत के बीच मतभेद अब जनता के सामने है. नाराज सचिन पायलट पार्टी आलाकमान से मुलाकात करने के लिए दिल्ली पहुंचे हैं. उनके साथ कुछ विधायक भी हैं. अपने दिल्ली दौरे के दौरान सचिन पायलट ने ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की.

    इस मुलाकात से पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सचिन पायलट के समर्थन में एक ट्वीट भी किया. कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि सचिन पायलट को दरकिनार किए जाने से मैं दुखी हूं. ये दिखाता है कि कांग्रेस में काबिलियत और क्षमता की कोई अहमियत नहीं है.

    बता दें कि सचिन पायलट सीएम अशोक गहलोत से नाराज चल रहे हैंण् सचिन पायलट का आरोप है कि अशोक गहलोत उन्हें नजरअंदाज कर रहे हैं. सरकार के फैसलों में उन्हें अहमियत नहीं दी जाती है. वहीं, गहलोत खेमे का आरोप है कि सचिन पायलट भारतीय जनता पार्टी के संपर्क में हैं.

    कांग्रेस छोड़ेंगे पायलट

    इस बीच, सचिन पायलट ने फैसला लिया है कि वह कांग्रेस विधायक दल की कल होनी वाली बैठक में शामिल नहीं होंगे. सचिन पायलट ने कहा कि मैं नहीं आऊंगा विधायक दल की बैठक में, मेरे साथ मेरे विधायक हैं. सचिन पायलट जयपुर भी नहीं जाएंगे. बता दें कि जयपुर में सोमवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक होगी. ये बैठक 10.30 बजे होनी है.

    सचिन पायलट पार्टी आलाकमान से मुलाकात करने दिल्ली पहुंचे हैं, लेकिन सोनिया गांधी और राहुल गांधी से उनकी मुलाकात नहीं हो पाई. ऐसे में अब ये सवाल उठ रहा है कि क्या सचिन पायलट कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होंगे.