• Mon. Sep 26th, 2022

    अगर पप्पू यादव को कुछ हुआ तो ठीक नहीं होगा नीतीश जी: रंजीत रंजन

    May 12, 2021

    पटना. अगर पप्पू जी को कुछ हुआ, जिसकी मुझे आशंका है तो नीतीश जी आपके लिए और बिहार की NDA सरकार के लिए ठीक नहीं होगा. अगर इस दौरान पप्पू जी के साथ कुछ भी हुआ तो पूरी जिम्मेवारी बिहार की एनडीए सरकार (NDA Government) की होगी. पप्पू जी के साथ कोई बड़ा षड्यंत्र हो रहा है. ये गुस्सा और नाराजगी जाहिर करते पप्पू यादव की पत्नी और कांग्रेस की पूर्व सांसद रंजीत रंजन (Ranjeet Ranjan) ने बिहार की नीतीश सरकार को साफ-साफ चेतावनी दे दी है.

    रंजीत रंजन ने कहा कि पप्पू यादव जी का कुछ दिन पहले ही गम्भीर बीमारी का ऑपरेशन हुआ था. डॉक्टर ने उन्हें तीन महीने तक आराम करने को बोला था, बावजूद इसके कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ते ही वो जिद कर बिहार की जनता की सेवा करने चले गए. अपनी सेहत का ख्याल नहीं रखते हुए दिन रात वो बिहार के लोगों की सेवा कर रहे थे इसके बावजूद बिहार की सरकार ने उन्हें पुराने मामले में गिरफ़्तार कर लिया, इसके पीछे गहरी साजिश है. उन्होंने कहा कि अभी कोरोना काल में सबको मिलकर मुकाबला  करने की जरूरत है राजनीति की नहीं.

    पूर्व सांसद के बेटे ने कही ये बात
    वहीं पप्पू यादव के बेटे सार्थक जो कि क्रिकेटर भी हैं अपने पिता की गिरफ़्तारी के बाद सामने आए और अपने गुस्से का इज़हार किया. सार्थक ने ट्वीट कर कहा- जितनी हिम्मत मेरे पिता को थाने में रखने और गिरफ़्तार करने में दिखाई है, नीतीश कुमार जी पिछले कुछ घंटो में काश उतना ज़ोर अस्पतालों की निगरानी में लगाया होता तो उतना मेरे पापा को घर से बाहर नही निकलना पड़ता. बिहार को मेरे पिता की ज़रूरत है, राजनीतिक दुश्मनी की नहीं. मेरे पिता हमेशा से जरूरत मंद लोगों की सेवा करते रहे हैं. इस बार भी वही कर रहे थे लेकिन पता नहीं क्यों ये सरकार को नागवार गुजर गया.

    खबर ये भी है की पप्पू यादव की पत्नी रंजीत रंजन और उनके बेटे सार्थक भी बहुत जल्द बिहार आ सकते हैं और तब इस मामले को गर्माने की पूरी सम्भावना है. ख़बर ये भी है की पप्पू यादव के समर्थक ये भी चाहते हैं कि पप्पू यादव की बिहार की जनता की सेवा का काम कोरोना काल में उनके परिवार के लोग आगे बढ़ाएं. पार्टी के तमाम नेता और कार्यकर्ता भी पप्पू यादव के परिवार के साथ इस संकट की घड़ी में साथ खड़ा रहेगा.

    बहरहाल पप्पू यादव की गिरफ़्तारी ने राजनीतिक रंग भी ले लिया है और सत्ता पक्ष हो विपक्ष पप्पू यादव की गिरफ़्तारी के बाद नाराज़गी ज़ाहिर की है. माना ये भी जा रहा है कि पप्पू यादव की गिरफ़्तारी आने वाले समय में बिहार की सियासत को और गर्मा सकता है वो भी तब जब बिहार में पप्पू यादव की पत्नी और बेटा बिहार पहुंचेंगे.