• Wed. Sep 21st, 2022

    स्वीडन में कुरान को लेकर दंगे, पोलैंड के सांसद बोले- एक भी मुस्लिम की एंट्री नहीं

    Aug 29, 2020

    स्वीडन में इस्लाम विरोधी गतिविधियों की वजह से दंगा भड़क उठा है. इन सब के बीच पोलैंड के सांसद का बयान चर्चा में है. दरअसल, एक टीवी चैनल से बात करते हुए सांसद डोमिनिक टार्जीसकी ने कहा है कि पोलैंड इसलिए सुरक्षित है, क्योंकि यहां पर मुस्लिम शरणार्थियों का प्रवेश प्रतिबंधित है.

    उन्होंने कहा कि दुनियाभर के मुस्लिम देश पोलैंड पर इस्लामोफोबिया होने का आरोप लगाते रहते हैं. इसके बावजूद इस देश ने यूरोपियन यूनियन के आव्रजन नीति को दरकिनार करते हुए मुस्लिमों को स्वीकार करने से इनकार कर दिया था.

    क्या है मामला

    दरअसल, दक्षिण स्वीडन के माल्मो शहर में 300 लोग इस्लाम विरोधी गतिविधियों का विरोध करने के लिए इकट्ठा हुए थे. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, एक दिन पहले दक्षिणपंथी चरमपंथियों ने धर्म ग्रंथ की प्रति को जलाया था. जिसके विरोध में प्रदर्शन हुआ था. इस घटना के बाद वहां दंगा भड़क गया.

    क्या बोले सांसद डोमिनिक टार्जीसकी

    डोमिनिक टार्जीसकी से जब एंकर ने सवाल पूछा कि पोलैंड ने कितने शरणार्थियों शरण दी? इसके जवाब में टार्जीसकी ने कहा ‘एक भी नहीं’. इसके बाद उन्होंने कहा कि अगर आप मुझसे मुस्लिम अवैध शरणार्थियों के बारे में पूछ रही हैं तो हम अपने देश में एक को भी यहां शरण नहीं देंगे।

    सांसद डोमिनिक टार्जीसकी ने कहा कि हमने 20 लाख से अधिक यूक्रेन के शरणार्थियों को पनाह दी है, जो यहां काम कर रहे हैं. आगे उन्होंने कहा कि कौन क्या कहता है, उसका हमें परवाह नहीं है. हमने एक भी मुसलमान को स्वीकार नहीं किया है, क्योंकि हमने ऐसा करने के लिए जनता से वादा किया था.

    उन्होंने कहा कि यही कारण है कि हमारी सरकार चुनी गई है और पोलैंड इतना सुरक्षित है. आगे उन्होंने कहा कि कौन क्या कहता है हमें उसका परवाह नहीं है, मुझे अपने परिवार और देश के बारे में परवाह है. बता दें कि 2019 में लॉ एंड जस्टिस पार्टी ने प्रवासियों को ही मुद्दा बनाकर चुनाव जीता था.