• Fri. Oct 7th, 2022

    पाकिस्तान के भरोसे नहीं अमेरिका, चीन से लंबी जंग की कर रहा तैयारी

    Jul 11, 2020

    Washington: कभी अमेरिका का सबसे खास रहा पाकिस्तान अब अपना भरोसा खो चुका है. यही कारण है कि अमेरिका पाकिस्तान को छोड़कर चीन के खिलाफ लंबी जंग की तैयारी कर रहा है. दरअसल, कुछ दिन पहले पाकिस्तान ने हर मोर्चे पर चीन का साथ देने का खुलेआम वादा किया था और हर वक्त चीन के साथ खड़े रहने की बात की थी.

    यूरोपीय फाउंडेशन फॉर साउथ एशियन स्टडीज के अनुसार, पाकिस्तान अब अमेरिका के लिए वसी अहमियत नहीं रखता जैसी, वह अफगानिस्तान युद्ध के वक्त रखता था. दरअसल, अमेरिका एशिया में रूस की बढ़त रोकने और समरिक रूप से खुद को मजबूत बनाने के लिए पाकिस्तान की मदद लेता रहा है, लेकिन अब समीकरण बदल गए हैं.

    अमेरिका ने पाकिस्तान को किया अलग-थलग

    अमेरिका ने पाकिस्तान पर कई आर्थिक मदद पर रोक लगा दी है, इसके अलावे उसे अलग-थलग भी कर दिया है. इसके अलावा ओबामा से लेकर ट्रंप तक के शासन काल में पाकिस्तान को दी जाने वाली आर्थिक सहायता को खत्म कर दिया है. यही नहीं, अमेरिका अब पाकिस्तान सैन्य मदद देने से भी इनकार कर दिया है.

    अमेरिकी एनएसए ने जिनपिंग को बताया था तानाशाह

    कुछ दिन पहले ही अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ ब्रायन ने कहा था कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव शी जिनपिंग खुद को सोवियत तानाशाह जोसेफ स्टालिन के उत्तराधिकारी के रूप में देखते हैं. अमेरिकी एनएसए ने फीनिक्स में एक कार्यक्रम के दौरान यह भी कहा था कि हमारी सहनशीलता और भोलेपन के दिन अब खत्म हो गए हैं. उन्होंने कहा था कि हम अब कम्युनिस्ट पार्टी और उसकी विचारधारा के प्रसार पर लगाम लगाने के लिए कार्रवाई करेंगे.

    अमेरिका-चीन में इन मुद्दों पर विवाद

    अमेरिका और चीन के बीच विवाद का मुख्य कारण दुनिया में अपना धौस दिखाना है. इसके अलावे ट्रेड वार के बाद कोरोना वायरस, हॉन्ग कॉन्ग में नया सुरक्षा कानून, साउथ चाइना सी में वर्चस्व की होड़, भारत-जपान-ऑस्ट्रेलिया और ताइवान के खिलाफ चीन का अक्रामक रवैया समेत कई मुद्दों को लेकर दोनों देशों के बीच विवाद है.