• Fri. Dec 2nd, 2022

    भारत में बंद हो जाएगा Twitter? सरकार की आखिरी चेतावनी- नहीं मानें नियम तो…

    Jun 5, 2021

    नई दिल्ली : ब्लू टिक विवाद के बीच भारत सरकार ने नए आईटी नियमों के अनुपालन के लिए ट्विटर को फाइनल नोटिस भेज दिया है. नोटिस में कहा गया है कि यदि ट्विटर नए आईटी नियमों का अनुपालन करने में विफल रहता है, तो वह आईटी कानून के तहत दायित्व से छूट को गंवा देगा.

    ट्विटर को आखिरी नोटिस
    भारत सरकार ने नए आईटी नियमों के अनुपालन के लिए ट्विटर को फाइनल नोटिस भेज दिया है. इस नोटिस में सरकार ने ट्विटर को साफ-साफ कह दिया है कि 26 मई से सोशल मीडिया के लिए लागू की गई शर्तों का तुरंत पालन करे और अगर ट्विटर ऐसा नहीं करता है तो सरकार कानूनी कार्रवाई कर सकती है.

    इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की ओर से जारी नोटिस में कहा गया है कि ट्विटर द्वारा नए नियमों के अनुपालन से इनकार से पता चलता है कि माइक्रो ब्लॉगिंग साइट में प्रतिबद्धता की कमी है और वह भारत के लोगों को अपने मंच पर सुरक्षित अनुभव प्रदान करने का प्रयास नहीं करना चाहती.

    मंत्रालय ने कहा, ‘भारत में करीब एक दशक से अधिक से परिचालन के बावजूद यह विश्वास करना मुश्किल है कि ट्विटर ने एक ऐसा तंत्र विकसित करने से इनकार कर दिया है, जिससे भारत के लोगों को उसके मंच पर अपने मुद्दों के समयबद्ध और पारदर्शी तरीके से उचित प्रक्रिया के जरिए हल में मदद मिलती.’

    तत्काल नियमों का अनुपालन करने का आदेश
    मंत्रालय ने कहा कि नए नियम 26 मई, 2021 से प्रभावी हैं, लेकिन सद्भावना के तहत टि्वटर इंक को एक आखिरी नोटिस के जरिए नियमों के अनुपालन का अवसर दिया जाता है. उसे तत्काल नियमों का अनुपालन करना है. यदि वह इसमें विफल रहता है, तो उसे दायित्व से जो छूट मिली है, वह वापस ले ली जाएगी. साथ ही उसे आईटी कानून और अन्य दंडात्मक प्रावधानों के तहत कार्रवाई के लिए तैयार रहना होगा. नोटिस में हालांकि यह नहीं बताया गया है कि ट्विटर को इन नियमों का अनुपालन कब तक करना है.

    उपराष्ट्रपति और आरएसएस प्रमुख का ब्लू टिक हटाया था
    माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के व्यक्तिगत ट्विटर अकाउंट से ब्लू टिक को हटाने के बाद दोबारा बहाल कर दिया है. उपराष्ट्रपति सचिवालय के अधिकारियों ने बताया कि ट्विटर पर नायडू का निजी अकाउंट लंबे समय से निष्क्रिय था और ट्विटर अल्गोरिद्म ने ब्लू टिक हटा दिया. इससे पहले अधिकारियों ने बताया था कि ट्विटर सत्यापन पहचान को बहाल करने की प्रक्रिया में है. उपराष्ट्रपति के इस निजी अकाउंट से पिछले साल 23 जुलाई को आखिरी बार पोस्ट की गयी थी.अधिकारियों ने बताया कि अकाउंट से ब्लू टिक हटने के बारे में शनिवार सुबह पता चलने के बाद ट्विटर से संपर्क किया गया और इसके बाद ब्लू टिक को बहाल कर दिया गया.

    उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के ट्विटर हैंडल से ब्लू टिक हटाने के बाद फिर से बहाल हो गया लेकिन आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत सहित संघ के कई पदाधिकारियों के हैंडल से सत्यापित ब्लू टिक हटा दिया है. ट्विटर ने आरएसएस के जिन नेताओं के ट्विटर हैंडल से ब्लू टिक हटाए हैं, उनमें सुरेश सोनी, अरुण कुमार, कृष्ण गोपाल और सुरेश जोशी के नाम शामिल हैं. फिलहाल आरएसएस नेताओं के हैंडल से ब्लू टिक हटाने पर ट्विटर की तरफ से कोई सफाई नहीं पेश की गई है.