• Wed. Sep 21st, 2022

    कृषि विधेयकों के भारी विरोध के बीच सरकार की बड़ी घोषणा, रबी की फसलों पर MSP बढ़ाया

    Sep 21, 2020

    New Delhi. कृषि से जुड़े दो विधेयकों के विरोध के बीच केन्द्र की मोदी सरकार ने फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ा दिया है. कैबिनेट ने रबी फसल पर एमएसपी को मंजूरी दे दी. गेहूं का एमएसपी 50 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाया गया. एमएसपी बढ़ने के बाद अब गेहूं 1975 रुपये प्रति क्विंटल हो गया है.

    कृषि मंत्री ने की घोषणा

    कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने रबी की 6 फसलों की नई एमएसपी जारी की. गेहूं के अलावा चना के समर्थन मूल्य में 225 रुपए प्रति क्विंटल, जौ के समर्थन मूल्य में 75 रुपए प्रति क्विंटल, मसूर के समर्थन मूल्य में 300 रुपए प्रति क्विंटल और सरसों एवं रेपसीड के समर्थन मूल्य में 225 रुपए प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है.

    कृषि विधेयक का विरोध

    कई राज्यों के किसान कृषि विधेयक का विरोध कर रहे हैं, वहीं, राजनीतिक पार्टियां भी बिल के खिलाफ हैं. बता दें कि केंद्र सरकार खेती-किसानी के क्षेत्र में सुधार के लिए तीन विधेयक लाई है. विपक्ष इन विधेयकों के खिलाफ है. इस विधेयक के कारण में कहा जा रहा है कि MSP की व्यवस्था बंद नहीं हो जाए. हालांकि पीएम मोदी और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर साफ कर चुके हैं कि MSP खत्म नहीं होगा. तीन में से दो बिल लोकसभा औऱ राज्यसभा में पास हो चुके हैं.

    क्या है MSP?

    MSP वह गारंटेड मूल्य है जो किसानों को उनकी फसल पर मिलता है. बाजार में भले ही फसल की कीमत कम हो लेकिन किसानों को ये कीमत मिलती रहेगी.