• Tue. Nov 29th, 2022

    PPF पर ब्याज दर जा सकती है 7 फीसदी से भी नीचे, 46 साल बाद आएगी इतनी बड़ी गिरावट

    Jun 22, 2020

    New Delhi: सुरक्षित निवेश और रिटर्न की गारंटी माने जाने वाली पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) स्कीम पर पहली बार ब्याज 7 फीसदी से भी कम हो सकता है. माना जा रहा है कि अगले सप्ताह तिमाही दरें तय की जा सकती है. माना जा रहा है कि PPF की ब्याज दर को 7 फीसदी से भी कम किया जा सकता है.

    1974 में ऐसा हुआ था

    इससे पहले 1974 यानी 46 साल पहले PPF की ब्याज दर 7 फीसदी से कम थी. गौरतलब है कि छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दर सरकारी बॉन्ड के प्रतिफल से जोड़ी गई है.

    हर तिमाही में बदलती हैं दरें

    PPF रेट को 10 साल की परिपक्वता अवधि के सरकारी बॉन्ड प्रतिफल से जोड़ा गया है. इसकी दरें हर दिन नहीं बदलती हैं लेकिन हर तिमाही की शुरुआत में इसकी घोषणा की जाती है.

    अप्रैल में छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में भारी कटौती की गई थी. PPF की दर 80 आधार अंक घटाकर 7.9 फीसदी से 7.1 फीसदी की गई थी जबकि सीनियर सिटीजंस सेविंग्स स्कीम की दर 8.6 फीसदी से घटाकर 7.4 फीसदी कर दी गई थी.

    अप्रैल माह में हुई थी भारी कटौती

    NSC पर ब्याज दर 7.9 फीसदी के घटाकर 6.8 फीसदी कर दी गई जबकि सुकन्या समृद्धि अकाउंट स्कीम पर इसे 8.4 फीसदी से घटाकर 7.6 फीसदी कर दिया गया था. इसी तरह किसान विकास पत्र की ब्याज दर भी घटाकर 6.9 फीसदी कर दी गई.

    गौरतलब है कि दरों में कटौती से पहले खरीदे गए NSC और KVP पर परिपक्वता तक अनुबंधित दर मिलती रहेंगी सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम में भी वही दर बरकरार रहेगी, लेकिन PPF और सुकन्या समृद्धि योजनाओं की दरें प्रभावित होंगी.